रत्नत्रय के तांत्रिक गुरूवर

रत्नत्रय के तांत्रिक गुरूवर

रत्नत्रय के तांत्रिक गुरूवर

Posted On: 05-August-2022

एक सज्जन आचार्य श्री के पास आया, आचार्य गुरूवर अपने पाटे पर विराजमान थे आकर गुरूवर को नमोऽस्तु किया और बोला। आचार्यश्री मैं बहुत परेशान हूँ, कोई अच्छा सा तंत्र मंत्र बता दीजिए। जिससे सब ठीक हो जाये ?

आचार्यश्री मुस्कुराये और बोले देखो भैया भ्रम में मत पड़ो, मंत्रों में महामंत्र " णमोकार " है और यंत्रों में महायंत्र " रत्नत्रय" है एवं तन्त्रों में महातंत्र " श्रावक और मुनिधर्म का पालन" है| इन यंत्र, मंत्र और तंत्र का आश्रय कर लो तुम्हारी सिर्फ इस भव की ही नहीं भव-भव की पेरशानी दूर हो जायेगी।

धन्य हैं ऐसे श्रेष्ठ संत जो तंत्र, मंत्र और यंत्र के प्रपंच से दूर एक मात्र रत्नत्रय के तांत्रिक हैं।


Jinagam panth prabhavna samiti